हाइट है कम तो करें ये लम्बाई बढ़ाने के योग व्यायाम और पाएं लंबा कद

लम्बाई बढ़ाने के लिए योग व्यायाम महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। बहुत से लोग योग के लाभों के बारे में नहीं जानते हैं और भ्रमित रहते हैं कि क्या यह हाइट बढ़ा सकता है या नहीं। यदि आप इसका जवाब खोज रहे हैं, तो आप सही लेख पढ़ रहे हैं।

अपने व्यक्तिगत अनुभव से जो मैंने खुद गौर किया है और में दृढ़ता से कह सकता हूं कि योग ऊंचाई बढ़ाता है। आप साधारण योग आसनों का पालन करके भी लम्बे दिख सकते हैं। अभ्यासों के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि उन्हें सरल युक्तियों के साथ पालन किया जा सकता है। कुछ भी संभव है, अगर आप खुद पर विश्वास करते हैं। यहां तक ​​कि आप 21 साल की उम्र के बाद भी ऊंचाई हासिल कर सकते हैं। पुरुष और महिला दोनों अपनी हाइट बढ़ाने के लिए योग को कर सकते हैं। योग जैसे प्राकृतिक तरीके हमेशा अपनाने के लिए अच्छे होते हैं क्योंकि इनमें कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है।

योग के दवारा शरीर को सही आकार मिलता और मांसपेशियों मजबूत और लचीली बनती हैं। इसके अलावा, योग के नियमित अभ्यास से तनाव कम होता है और ऊंचाई में वृद्धि होती हैं।

आइए जानें 4 कद बढ़ाने के लिए योगासन के बारे मे।

वृक्षासन योगासन

वृक्षासन करने के फायदे

अब छोटी हाइट को लेकर शर्म महसूस करने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि वृक्षासन जैसे योगासनों की मदद से आप आसानी से अपनी हाइट को बढ़ा सकते हैं।

वृक्षासन कद बढ़ने में अद्भुत मदद करता है। जब पैर को मोड़कर दूसरी जांघ के ऊपर रखा जाता है, तो पूरे वजन को दूसरे पैर द्वारा परिवर्तन किया जाता है। यह आपकी मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

वृक्षासन कैसे करें

  • पैरों के बल फर्श पर खड़े हों जाये। हाथों को बगल में रखें और सामान्य रूप से सांस लें।
  • बाएं पैर पर मजबूती से खड़े हों और दाएं पैर को अपने घुटनों पर मोड़ें। दाएं पैर के तलवे हिस्से को अंदर की बाएं जांघों पर लाएं।
  • बाएं पैर पर संतुलन रखें और दोनों हाथों को सिर के ऊपर उठाएं, कोहनी को मोड़ें और अपनी हथेलियों को आपस में मिलाएं।
  • इस आसन को धीरे-धीरे सांस लेते हुए कुछ सेकंड तक करे। विपरीत पैर के साथ प्रक्रिया को फिर से दोहराएं।
वृक्षासन करने के फायदे विस्तार से जाने।

ताड़ासन योगासन

ताड़ासन करने के फायदे

ताड़ासन में सिर से पैर तक की सभी मांसपेशियों को खींचना शामिल है। बेहद आसान और फायदेमंद होने के कारण, यह आसन आपके हाथ, पैर और रीढ़ को मजबूत बनाता है। यह ऊंचाई हासिल करने के लिए भी फायदेमंद है और बचपन से ही इसका अभ्यास करना चाहिए।

ताड़ासन कैसे करें 

  • अपने पैरों, कमर और गर्दन को एक सीधी रेखा में संरेखित करें। दोनों पैरों को एक साथ रखें।
  • साँस लेते समय, अपनी दोनों बाँहों को एक-दूसरे के समानांतर, ऊपर की दिशा में एक साथ उठाएँ।
  • धीरे-धीरे अपनी एड़ी उठाएं और अपने पैर की उंगलियों पर खड़े होने की कोशिश करे ।
  • जहाँ तक हो सके अपने शरीर को ऊपर की ओर तानें, पैरों और हाथों को सीधा रखें।
पढ़े ताड़ासन करने के फायदे

उत्तानासन


उत्तानासन, अगर नियमित रूप से किए जाएं, तो समय के साथ कद में वृद्धि दिखाई देगी। नियमित अभ्यास करने से इसके कई फायदे है। यह शरीर के हर हिस्से पर काम करता है। इस आसन से आप अपने व्यक्तित्व को निखार सकते हैं और बढ़ी हुई हाइट के साथ आकर्षक दिख सकते हैं।

उत्तानासन करने का तरीका

  • ताड़ासन में सीधे हो, अपने पैरों से शुरू करें।
  • श्वास लें और अपनी बाहों को सीधे उपर की ओर बढ़ाएं।
  • साँस छोड़ते और आगे झुकें, अपने सिर को अपने घुटनों और अपने हाथों को अपने पैरों पर छूने की कोशिश करें।
  • यदि आप पर्याप्त लचीले हैं, तो अपने हाथों से अपने पैरों के पिछले हिस्से को छूने की कोशिश करें।
  • 30 सेकंड के लिए मुद्रा मे रहे और साँस छोड़ते हुए पहली स्थिति में लौट आएं।

उत्तानासन के अन्य लाभ: पेट की चर्बी कम होना, अधिक लचीलापन, बेहतर मुद्रा, मस्तिष्क में रक्त प्रवाह में सुधार, मासिक धर्म, बालों के झड़ने का इलाज, कब्ज का इलाज।

सूर्य नमस्कार

सूर्य नमस्कार आसन कैसे करते हैं

सूर्य नमस्कार को 12 चरणों में विभाजित किया गया है। सूर्य नमस्कार का अभ्यास करने का सबसे अच्छा समय सूर्य उदय है और इसे खाली पेट करना चाहिए। 15 मिनट के लिए दैनिक रूप से कम से कम सूर्य नमस्कार का अभ्यास करना न भूलें। यह कद बढ़ाने के आसान तरीके मे से एक है और मांसपेशियों को खींचने और वजन बढ़ाने भी में मदद करता है।

जानिए सूर्य नमस्कार आसन कैसे करते हैं।

टिप्पणियाँ