-->
मस्तिष्क जिसका वजन 1.5 किलोग्राम से कम होता है, वह शरीर के हर अंग को नियंत्रित करता है। विशेष रूप से, नई चीजें सीखने और कठिन परीक्षाओं का सामना करने में तेज दिमाग की आवश्यकता होती है। दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए संपूर्ण आहार और याददाश्त बढ़ाने के लिए व्यायाम की आवश्यकता होती है। प्रतिदिन योग करने से दिमाग की शक्ति, याददाश्त और एकाग्रता में सुधार होता है। पढ़ाई में मन लगाने के लिए आसन और प्राणायाम सभी प्रभावी तरीके हैं।

एकाग्रता में सुधार और याददाश्त बढ़ाने के योग आसन को रोजाना करे।

याददाश्त बढ़ाने के योग | Yaddasht Badhane Ke Liye Yoga


पद्मासन | Padmasana

पद्मासन या कमल मुद्रा एक सरल आसान है जो की मांसपेशियों के तनाव को कम करती है और मन को शांत करती है। यह मुद्रा अधिक जागरूक बनाती है और मस्तिष्क की कार्यप्रणाली में सुधार करती है।
  • अपनी पीठ सीधी करके फर्श पर बैठकर शुरुआत करें और पैरों को अपने सामने फैलाएं। 
  • अब अपने बाएं घुटने को मोड़ें और अपने बाएं पैर की उंगलियों को अपनी दाहिनी जांघ पर रखें। 
  • अपने दाहिने घुटने को मोड़ें और दाहिने पैर की उंगलियों को अपनी बाईं जांघ पर रखें। 
  • पैरों के तलवे ऊपर की ओर होने चाहिए। 
  • अपनी हथेलियों को अपने घुटनों पर रखें और अपनी आँखें बंद कर लें। 
  • अपने दिमाग को आराम दें और गहरी सांसें लें। 
  • अपनी श्वास पर ध्यान दें। इस स्थिति में करीब पांच मिनट तक रहें और मूल मुद्रा में लौट आएं।

पश्चिमोत्तानासन | Paschimottanasana

पश्चिमोत्तानासन, एकाग्रता बढ़ाने के लिए सबसे अच्छे आसनों में से एक है। यह  दिमाग को शांत करता है और याददाश्त में सुधार करता है।  यह आसन सिर दर्द को भी दूर करता है।

  • अपने पैरों को आगे की ओर और अपने हाथों को बगल में रख कर शुरुवात करे। 
  • आपकी पीठ सीधी होनी चाहिए और पैर एक साथ होने चाहिए। 
  • अब अपनी बाहों को ऊपर उठाएं और अपने कूल्हों से आगे की ओर झुकें। 
  • तब तक झुकें जब तक आपका सिर आपके घुटनों को न छू ले और आपकी छाती आपकी जाँघों। 
  • अपने पैर की उंगलियों को छूने की कोशिश करें। 
  • कुछ मिनट के लिए इस स्थिति में रहें और मूल स्थिति में लौट आएं। 

पादहस्तासन | Padahastasana

मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह को भी सुधारता है और इसे करने से याददाश्त और मस्तिष्क की शक्ति में सुधार होता है।
  • अपने हाथों को बगल में और पैरों को एक साथ रखकर सीधे खड़े होकर शुरुआत करें।
  • अब हाथ ऊपर उठाएं।
  • कूल्हों से आगे की ओर झुकें और अपनी हथेलियों को अपने पैरों के नीचे रखने की कोशिश करें।
  • लगभग एक मिनट के लिए इस स्थिति में रहें और मूल स्थिति में लौट आएं।

हलासन | Halasana

हलासन, तनाव को कम करता है और दिमाग को शांत करने में मदद करता है। यह तंत्रिका तंत्र के लिए एक बेहतरीन योग आसन है।
  • पीठ के बल फर्श पर लेटकर,पैरों को एक साथ और हाथों को एक तरफ करके शुरू करें।
  • अब, पैरों को तब तक ऊपर उठाएं जब तक कि यह आपके शरीर के साथ 90 डिग्री के कोण पर न हो जाए।
  • कोहनियों को मोड़ें और अपनी हथेलियों को अपनी कमर के नीचे रखें। 
  • इस सहारे से अपने पैरों को और ऊपर उठाएं और अपने सिर के ऊपर 180 डिग्री के कोण पर लाएं।
  • पैर की उंगलियों को फर्श पर स्पर्श करें। कुछ सेकंड के लिए इस स्थिति में रहें और मूल स्थिति में लौट आएं।

वज्रासन | Vajrasana

वज्रासन, एक सरल आसन है जो रक्त प्रवाह और पाचन में सुधार करता है। दिमाग को शांत करता है और एकाग्रता में सुधार करता है।
  • फर्श पर घुटना टेककर शुरुआत करें।
  • अब वापस एड़ियों के बल बैठ जाएं।
  • सुनिश्चित करें कि पीठ, गर्दन और सिर एक सीध में हों।
  • इस पोजीशन में करीब 10 मिनट तक रहें।
  • इस आसन को करते हुए आप अपनी श्वास पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं।